For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

मई २०१५ आयोजन कैलेण्डर

"ओ बी ओ लाइव महाउत्सव" अंक-55

08 मई शुक्रवार से 09 मई शनिवार तक

***

"ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव"अंक-49

15 मई शुक्रवार से 16 मई शनिवार तक

***

"ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-59

22 मई शुक्रवार से 23 मई शनिवार तक

***

"ओबीओ लाइव लघुकथा गोष्ठी" अंक-2

30 मई शनिवार से 31 मई रविवार तक

कार्टून कोना

महीने का सक्रिय सदस्य (Active Member of the Month)

ओ बी ओ स्मारिका

महीने की सर्वश्रेष्ठ रचना (Best Creation of the Month)

शीर्षक :- धरती रोती है

रचनाकार :- तनूजा उप्रेती 

निवास स्थान :- अल्मोड़ा (उत्तराखंड)

वर्तमान स्थान :- देहरादून (उत्तराखंड)

(आपकी रचना भी "महीने की सर्वश्रेष्ठ रचना" हेतु चयनित हो सकती है, किन्तु इसके लिए अनिवार्य है कि आपकी रचना अगले माह की 5 तारीख तक कही और प्रकाशित न हो)

Photos

Loading…
  • Add Photos
  • View All
 

ओपन बुक्स ऑनलाइन (OBO) परिवार मे आपका हार्दिक स्वागत है

Forum

"ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-59 680 Replies

Started by Admin in OBO लाइव तरही मुशायरा. Last reply by मिथिलेश वामनकर yesterday.

एक घोषणा:-महीने का सक्रिय सदस्य (Active Member of the Month) 737 Replies

Started by Admin in घोषणा. Last reply by गिरिराज भंडारी May 16.

ओ बी ओ नि:शुल्क विज्ञापन योजना अंतर्गत प्रदर्शित

पुस्तक का शीर्षक : इन्द्रधनुष 
पुस्तक का विषय : काव्य - संग्रह 
पुस्तक का लेखक : मनन सिंह 
पुस्तक का मूल्य : रु 200/- मात्र
ओ बी ओ सदस्यों हेतु पुस्तक का मूल्य : रु 160+40(डाक खर्च)=200/-
पुस्तक मिलने का पता : द्वारा मधु सिंह, ई-52, कृष्णा अपार्टमेंट, बोरिंग रोड, पटना-800013

नोट : पुस्तक मूल्य और डाक खर्च हेतु कुल रु200/-का मनी ऑर्डर मधु सिंह के नाम प्रेषित करें. 

OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

 
 
 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

Sushil Sarna commented on Saurabh Pandey's blog post ग़ज़ल - गीत कविता ग़ज़ल रुबाई क्या ? // --सौरभ
"मुट्ठियों की पकड़ बताती हैचाहती है भला कलाई क्या ! वाह आदरणीय सौरभ सर कितना दिलकश और सार्थक…"
44 minutes ago
narendrasinh chauhan commented on Nilesh Shevgaonkar's blog post ग़ज़ल -नूर - कुछ और मुझ में जीने की हसरत बढ़ा गया
"बहुत खूब ! दाद कुबूल करें"
1 hour ago

सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey replied to sharadindu mukerji's discussion ओपन बुक्स ऑन-लाईन, लखनऊ चैप्टर की तृतीय जयन्ती कार्यक्रम (17 मई 2015 ) की एक संक्षिप्त रिपोर्ट – डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव
"आदरणीय गोपाल नारायनजी, मैंने इस आयोजन की रूपरेखा में कोई योगदान नहीं दिया है. आयोजन की सफलता आप सभी…"
1 hour ago
narendrasinh chauhan commented on Saurabh Pandey's blog post ग़ज़ल - गीत कविता ग़ज़ल रुबाई क्या ? // --सौरभ
"बहोत खूब सुन्दर ग़ज़ल"
1 hour ago
narendrasinh chauhan commented on मिथिलेश वामनकर's blog post ग़ज़ल -- एक प्रयास (मिथिलेश वामनकर)
"बहॉट उम्दा ग़ज़ल "
1 hour ago
aman kumar commented on VIRENDER VEER MEHTA's blog post ठूंठ होते गांव - लघुकथा
"अच्छे  विचार है आपके "
1 hour ago
लक्ष्मण रामानुज लडीवाला commented on VIRENDER VEER MEHTA's blog post ठूंठ होते गांव - लघुकथा
"वीरेंद्र वीर मेहता जी, संस्कारों  के पीछें बहुत कुछ सोच विचार होता है | कही दफनाया जाता है तो…"
2 hours ago
लक्ष्मण रामानुज लडीवाला commented on Manan Kumar singh's blog post विवाह(कविता)
"इस रचना क्या औचत्य है भाई  मनन सिंह जी | प्रेम तो सभी करते है पशु पक्षी सन्यासी ब्रह्मचारी |…"
2 hours ago
Manoj kumar Ahsaas commented on Naveen Mani Tripathi's blog post ग़ज़ल
"बहुत खूब बेहतरीन सादर"
3 hours ago

सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey posted a blog post

ग़ज़ल - गीत कविता ग़ज़ल रुबाई क्या ? // --सौरभ

२१२२ १२१२ २२साफ़ कहने में है बुराई क्या ? कौन समझे पहाड़-राई क्या ? चाँद-सूरज कभी हुए हमदम ? इस…See More
3 hours ago
लक्ष्मण रामानुज लडीवाला commented on Samar kabeer's blog post ग़ज़ल बतौर-ए-ख़ास ओबीओ की नज़्र
"बहुत खूब समर कबीर साहब, स्नेह के मध्य स्नेह का इजहार  करने  के लिए शुक्रिया | मै तो अभी…"
3 hours ago

सदस्य कार्यकारिणी
rajesh kumari commented on Samar kabeer's blog post ग़ज़ल बतौर-ए-ख़ास ओबीओ की नज़्र
"बस क्या कहूँ समर भाई जी ,आपकी ये ग़ज़ल दिल को छू  गई --- पढ़ी ये ग़ज़ल जो समर भाई की तो  नमन…"
3 hours ago

© 2015   Created by Admin.

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service