For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गनेश जी "बागी")

अप्रैल २०१४ आयोजन कैलेण्डर

"ओबीओ लाइव महा उत्सव" अंक-42

12 अप्रैल शनिवार से 13 अप्रैल रविवार तक

"ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक-37

19 अप्रैल शनिवार से 20 अप्रैल रविवार तक

"ओबीओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-46

26 अप्रैल शनिवार से 27 अप्रैल रविवार तक

कार्टून कोना

महीने का सक्रिय सदस्य (Active Member of the Month)

महीने की सर्वश्रेष्ठ रचना (Best Creation of the Month)

शीर्षक :- ग़ज़ल ("ओबीओ लाइव तरही मुशायरा" अंक 45 में प्रस्तुत)
रचनाकार :-
श्री गजेन्द्र श्रोत्रिय
निवास स्थान :-
 कोटा (राजस्थान) 

(आपकी रचना भी "महीने की सर्वश्रेष्ठ रचना" हेतु चयनित हो सकती है, किन्तु इसके लिए अनिवार्य है कि आपकी रचना अगले माह की 5 तारीख तक कही और प्रकाशित न हो)

Photos

Loading…
  • Add Photos
  • View All
 

ओपन बुक्स ऑनलाइन (OBO) परिवार मे आपका हार्दिक स्वागत है

ओ बी ओ पर नया आयोजन

आदरणीय श्री संजय मिश्रा हबीब जी की आकस्मिक निधन की सूचना से ओ बी ओ प्रबंधन आहत है और "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक-37 आयोजन अगले माह हेतु स्थगित किया जाता है.

Forum

हिंदी की 50 सर्वश्रेष्ठ कह-मुकरियाँ 9 Replies

Started by Team Admin in OBO लाइव तरही मुशायरा. Last reply by रमेश कुमार चौहान 9 hours ago.

पुनर्मिलन 7 Replies

Started by vijay nikore in ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार. Last reply by vijay nikore on Wednesday.

होली मनाएं हम (प्रदीप कुमार सिंह कुशवाहा) 2 Replies

Started by PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA in समाज. Last reply by PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA Apr 10.

Feature Blog Posts

कुछ कह मुकरियां

Posted by Neeraj Kumar 'Neer' on February 28, 2014 at 8:00pm — 29 Comments

बाल साहित्य

Loading… Loading feed

 
 
 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-"OBO" मुफ्त विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Blogs

Latest Activity

dr lalit mohan pant commented on dr lalit mohan pant's blog post ग़ज़ल …. है बहाना आज फिर शुभकामनाओं के लिये
" आ  .  गीतिका 'वेदिका जी जितेन्द्र 'गीत जी Mukesh…"
5 hours ago
वीनस केसरी replied to Admin's discussion खुशिया और गम, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के संग...
"स्तब्ध हूँ ... एक के बाद एक परिवार ने दो सदस्यों को इस तरह खो दिया ... दुखद विनम्र श्रद्धांजलि"
6 hours ago
अखिलेश कृष्ण श्रीवास्तव replied to Admin's discussion खुशिया और गम, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के संग...
"कुछ दिन पहले महोत्सव में संजय भाई हम सब के साथ थे और अचानक हम से बहुत दूर चले गये......... इतनी दूर…"
6 hours ago

सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey replied to Admin's discussion "ओ बी ओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक-37 in the group चित्र से काव्य तक
"इस माह का आयोजन अपने अनन्य भाई, अत्यंत चमत्कारी, संवेदनशील और संभावनापूरित रचनाकार तथा बहुत ही भले…"
6 hours ago
इमरान खान replied to Admin's discussion खुशिया और गम, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के संग...
"ओह सख्त अफसोस! हबीब भाई भी साथ छोड़ गये, ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे और परिवार वालों को दुख सहने की…"
6 hours ago

सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey replied to Admin's discussion खुशिया और गम, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के संग...
"एक पारिवारिक व्यक्तित्व, एक आत्मीय आवाज़ अब बस यादों के पन्नों का हिस्सा हो गयी. न कुछ कहते बन रहा…"
6 hours ago
Ashok Kumar Raktale replied to Admin's discussion खुशिया और गम, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के संग...
"एक के बाद एक लगातार मंच के दो जिंदादिल रचनाकारों का निधन. कुछ दिन पूर्व ही महोत्सव में संजय जी के…"
6 hours ago
जितेन्द्र 'गीत' commented on धर्मेन्द्र कुमार सिंह's blog post ग़ज़ल : तभी जाके ग़ज़ल पर ये गुलाबी रंग आया है
"कई दिन से उजाला रात भर सोने न देता था बहुत मजबूर होकर दीप यादों का बुझाया है..............बहुत बहुत…"
7 hours ago
भुवन निस्तेज commented on धर्मेन्द्र कुमार सिंह's blog post ग़ज़ल : तभी जाके ग़ज़ल पर ये गुलाबी रंग आया है
"बहुत खूब आदरणीय  महीनों तक तुम्हारे प्यार में इसको पकाया है तभी जाके ग़ज़ल पर…"
7 hours ago
नादिर ख़ान commented on धर्मेन्द्र कुमार सिंह's blog post ग़ज़ल : तभी जाके ग़ज़ल पर ये गुलाबी रंग आया है
"कई दिन से उजाला रात भर सोने न देता था बहुत मजबूर होकर दीप यादों का बुझाया है...... बहुत खूब कहा…"
7 hours ago
भुवन निस्तेज commented on कल्पना रामानी's blog post बेटियाँ होंगी न जब /गजल/कल्पना रामानी
"लाजवाब..आदरणीया कृपया बधाई स्वीकारें ..."
7 hours ago
नादिर ख़ान commented on dr lalit mohan pant's blog post ग़ज़ल …. है बहाना आज फिर शुभकामनाओं के लिये
"है बहाना आज फिर शुभकामनाओं के लिये आँधियों की धूल में संभावनाओं के लिये . आदरणीय मोहन जी बहुत…"
7 hours ago

© 2014   Created by Admin.

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service