For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गनेश जी "बागी")

नवम्बर २०१४ आयोजन कैलेण्डर

"ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक - 49

14 नवम्बर से 15 नवम्बर तक 

"ओ बी ओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक-43

21 नवम्बर से 22 नवम्बर तक

"ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक - 53

28 नवम्बर से 29 नवम्बर तक

कार्टून कोना

महीने का सक्रिय सदस्य (Active Member of the Month)

महीने की सर्वश्रेष्ठ रचना (Best Creation of the Month)

शीर्षक :- गीत:गलती क्या थी मेरी माई
रचनाकार :- श्रीमती सीमाहरी शर्मा

निवास स्थान :- भोपाल (म.प्र.) 

(आपकी रचना भी "महीने की सर्वश्रेष्ठ रचना" हेतु चयनित हो सकती है, किन्तु इसके लिए अनिवार्य है कि आपकी रचना अगले माह की 5 तारीख तक कही और प्रकाशित न हो)

Photos

Loading…
  • Add Photos
  • View All

Events

 

ओ बी ओ पर नया आयोजन

"ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक - 53

28 नवम्बर से 29 नवम्बर तक

Forum

हिन्दी काव्य का फलक और अतुकांत कविता --- डा0 गोपाल नारायन श्रीवास्तव 4 Replies

Started by डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव in साहित्य. Last reply by डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव 7 hours ago.

नवगीत : तथ्यात्मक आधार और सार्थकता // --सौरभ 3 Replies

Started by Saurabh Pandey in साहित्य. Last reply by डॉ गोपाल नारायन श्रीवास्तव on Tuesday.

Feature Blog Posts

दिल्ली चीखती है

Posted by Samir Parimal on October 21, 2014 at 4:30pm — 12 Comments

लघुकथा : आस्तीन

Posted by Neeles Sharma on October 16, 2014 at 7:00pm — 13 Comments

OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना

पुस्तक का शीर्षक – “छाया का उजास”
पुस्तक का विषय – कविता संग्रह
पुस्तक की लेखिका – छाया शुक्ला “छाया”
पुस्तक का मुल्य - 150/-
पुस्तक के मूल्य पर OBO सदस्यों हेतु छुट – 25%

(पोस्टल चार्ज अतिरिक्त )
पुस्तक मिलने का पता – एस 8/46 कुसुम अपार्टमेन्ट शिवपुर वाराणसी-221003

नोट : OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

 
 
 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity


सदस्य कार्यकारिणी
rajesh kumari replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक - 53
"आज बिखरा पड़ा था धरती पर -----आज के बाद था काल दोष पैदा कर रहा है आज की जगह जिस्म कर सकते हैं ,वैसे…"
44 seconds ago

सदस्य कार्यकारिणी
rajesh kumari replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक - 53
"अच्छी ग़ज़ल हुई है आ० मोहन बेगोवाल जी , रात जब आई नींद आ घेरा----यहाँ नींद के बाद ने कर…"
4 minutes ago
Rahul Dangi commented on harivallabh sharma's blog post ग़ज़ल: लौ मचलती रही.
"बहुत सुन्दर वाह!"
7 minutes ago

सदस्य कार्यकारिणी
rajesh kumari replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक - 53
"प्रिय राम शिरोमणि पाठक जी,आपको ग़ज़ल पसंद आई तहे दिल से आभार आपका.  "
11 minutes ago
Rahul Dangi commented on ram shiromani pathak's blog post दर्द भरी सौगात मिली है
"बहुत सुन्दर वाह!"
12 minutes ago
ram shiromani pathak replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक - 53
"मोहन भाई सुन्दर गज़ल//हार्दिक बधाई आपको "
21 minutes ago
ram shiromani pathak replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक - 53
"कमसिनी थी न तो जवानी थीकुछ अजब तौर की कहानी थी **जिश्म  से  रूबरू न थे लेकिनदरमियाँ …"
24 minutes ago
Nilesh Shevgaonkar replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक - 53
"शुक्रिया आ. पाठक साहब "
26 minutes ago
ram shiromani pathak replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक - 53
"ख़ूब ख़ुशहाल जिंदगानी थी अम्न-ओ-चैन था जवानी थी   जानता था सभी लकीरों को हाथ दौलत न आनी जानी…"
27 minutes ago
ram shiromani pathak replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक - 53
"इसलिए हार हमने मानी थी, जो मुसीबत थी, आसमानी थी.///इसमें किसका ज़ोर चलेगा . कुछ तो तूफ़ान…"
28 minutes ago
ram shiromani pathak replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक - 53
"बहुत सुन्दर  ग़ज़ल भाई  जी  हार्दिक बधाई आपको //सादर"
33 minutes ago
ram shiromani pathak replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक - 53
"अजनबी उस नये से मंज़र में बस तेरी याद ही पुरानी थी   तुझ से हर दिन रहा गुलाबों सा तुझ से सब…"
35 minutes ago

© 2014   Created by Admin.

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service