For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

dilbag virk
  • Male
  • haryana
  • India
Share

Dilbag virk's Friends

  • Neelkamal Vaishnaw
  • विन्ध्येश्वरी प्रसाद त्रिपाठी
  • Nutan Vyas
  • Nazeel
  • AjAy Kumar Bohat
  • राज लाली  बटाला
  • Pankaj Trivedi
 

dilbag virk's Page

Latest Activity

dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-74
"बड़ी महत्त्वपूर्ण जानकारी दी आपने, धन्यवाद"
Aug 27, 2016
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-74
"जी,धन्यवाद"
Aug 27, 2016
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-74
"जरूर, यहां सीखने को मिलता है सदा, बस कमी मेरी ही है कि अब नियमित नहीं आ पाता लेकिन जब जब आता हूँ कुछ न कुछ हासिल होता ही है ।"
Aug 27, 2016
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-74
"जी, काफी मुश्किल लगी ये बह्र और प्रयास भी बहुत दिनों बाद किया था, लेकिन सीखने को अवश्य मिलेगा यही आशा है ।"
Aug 27, 2016
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-74
"रूह को निखार दे, ये कोहराम तक न पहुँचे । इश्क़ वासना के उस थोथे मुकाम तक न पहुँचे न दो अहमियत इनामों को जमीर से जियादा जरा ठहरो, खुद्दारी चलके इनाम तक न पहुँचे । बड़े यत्न से आजादी, फ़िजा महकाने लगी है यही चाह उसकी, ये ख़ुशबू गुलाम तक न पहुँचे। एक हो…"
Aug 27, 2016
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-70
"धन्यवाद निलेश जी विस्तृत प्रतिक्रिया के लिए । मतले में मैंने तो इसी से और दुआ को जोड़ने का प्रयास किया था, हो सकता है मुझे सफलता न मिली हो । इस पर अन्य विद्वजनों की राय भी चाहूँगा । फसलें के सुझाव के लिए पुनः धन्यवाद"
Apr 23, 2016
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-70
"धन्यवाद सौरभ पाण्डेय जी, भगवान की कृपा और आप सबकी दुआओं से सब कुशल मंगल है"
Apr 23, 2016
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-70
"शुक्रिया योगराज प्रभाकर जी,आगे से प्रयास रहेगा कि कम से कम तरही मुशायरे में उपस्थिति जरूर हो"
Apr 23, 2016
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-70
"धन्यवाद तसदीक अहमद खान साहिब"
Apr 23, 2016
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-70
"धन्यवाद शिज्जु शकूर जी"
Apr 23, 2016
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-70
"धन्यवाद दिनेश कुमार जी"
Apr 23, 2016
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-70
"धन्यवाद अनुज जी इस हौंसला अफजाई के लिए"
Apr 23, 2016
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-70
"शेख उस्मानी जी, समीर कबीर जी हार्दिक धन्यवाद । समीर जी संभवतः आप ठीक हों, अन्यविद्वजनों की राय का इंतजार है ।"
Apr 23, 2016
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-70
"इसी से क्या पता बदहाल दुनिया कुछ संवर जाए दुआ करना सदा तुम, दूर तक इसका असर जाए । वफाओं के बिना कैसे उगे खेती मुहब्बत की दिखे वीरानगी यारो, जहां तक भी नज़र जाए । न अंदर की ख़बर है, सब करें बस बात बाहर की जिसे हो जुस्तजू अपनी वो बेचारा किधर जाए…"
Apr 23, 2016

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर left a comment for dilbag virk
"ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार की ओर से आपको जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें..."
Oct 23, 2015
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-60
"धन्यवाद मिश्रा जी "
Jun 26, 2015
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-60
"धन्यवाद मिथिलेश जी "
Jun 26, 2015
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-60
"धन्यवाद सौरभ पाण्डेय जी  अगर सुझाव भी मिल जाते तो और ख़ुशी होती "
Jun 26, 2015
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-60
"धन्यवाद राजेश कुमारी जी"
Jun 26, 2015
dilbag virk replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-60
"छोड़ दो तुम ' विर्क ' लड़ना इबादत को लेकरदिल झुके जब कभी, गुरुघर नहीं देखे जाते ।"
Jun 26, 2015

Profile Information

Gender
Male
City State
haryana
Native Place
mandi dabwali , sirsa
Profession
lect. in hindi
About me
bullan main ki jana main kaun

dilbag virk's Photos

Loading…
  • Add Photos
  • View All

Dilbag virk's Blog

वो सिर्फ बदनाम है

बेवफाई तेरी का ये अंजाम है
गूंजता महफ़िलों में मेरा नाम है |


क्या मिला पूछते हो, सुनो तुम जरा
इश्क का अश्क औ' दर्द इनाम है…
Continue

Posted on May 24, 2012 at 7:42pm — 10 Comments

गजल

कुछ नया इसमें नहीं , दास्तां पुरानी दे गया 

यार मेरा आँख को नमकीन पानी दे गया |


मैं इसे सबको सुनाऊं , लोग सुनते झूम के …
Continue

Posted on May 5, 2012 at 8:18pm — 6 Comments

विवशता ( कविता )

मजदूर दिवस को समर्पित…



Continue

Posted on May 1, 2012 at 11:30am — 7 Comments

मेरा देश ( चोका )

देश मेरे में

अजूबे ही अजूबे

करें नमन

लोग पैर छूकर ।

           …

Continue

Posted on April 2, 2012 at 9:00pm — 5 Comments

Comment Wall (10 comments)

You need to be a member of Open Books Online to add comments!

Join Open Books Online

At 1:31am on October 23, 2015,
सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर
said…

ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार की ओर से आपको जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें...

At 8:51am on October 22, 2012, लक्ष्मण रामानुज लडीवाला said…

जन्म दिन की हार्दिक शुभ कामनाए | इश्वर आपको और ऊंचाइयां प्रदान कर देश और

समाज सेवा का अवसर प्रदान करे - लक्ष्मण प्रसाद लडीवाला, जयपुर 

At 7:05am on February 5, 2012,
सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey
said…

भाई दिलबाग़जी को माँ शारदा के माह में सक्रियतम सदस्य चयनित होने पर हार्दिक बधाई.

 

At 10:05pm on February 4, 2012, Abhinav Arun said…

आदरणीय श्री दिलबाग विर्क जी माह का सक्रिय सदस्य चुने जाने पर हार्दिक बधाई आपको !!

At 5:04pm on February 2, 2012,
सदस्य कार्यकारिणी
rajesh kumari
said…

dilbag ji bahut bahut badhaai.

At 1:50pm on February 2, 2012, आशीष यादव said…
'Active member of month' chune jaane pr bahut bahut badhai.
At 1:48pm on February 2, 2012, Admin said…

आदरणीय श्री  दिलबाग विर्क जी , "महीने का सक्रिय सदस्य" पुरस्कार प्राप्त होने पर आपको बधाई , कृपया पुरस्कार की राशि चेक द्वारा प्राप्त करने हेतु चेक किस नाम से काटा जाय व् किस पते पर भेजा जाय कृपया इस admin@openbooksonline.com मेल पर उपलब्ध कराने की कृपा हो |

एडमिन

At 11:18pm on February 1, 2012,
मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi"
said…

आदरणीय श्री दिलबाग विर्क जी

सादर अभिवादन,
यह बताते हुए मुझे बहुत ख़ुशी हो रही है कि ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार में आपकी सक्रियता को देखते हुए OBO प्रबंधन ने आपको "महीने का सक्रिय सदस्य" (Active Member of the Month) घोषित किया है, बधाई स्वीकार करे |
हम सभी उम्मीद करते है कि आपका प्यार इसी तरह से पूरे OBO परिवार को सदैव मिलता रहेगा |
आपका
गणेश जी "बागी"

संस्थापक सह मुख्य प्रबंधक 
ओपन बुक्स ऑनलाइन

At 10:00am on July 9, 2011,
मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi"
said…
At 5:50pm on June 30, 2011, PREETAM TIWARY(PREET) said…
 
 
 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

Niraj Kumar commented on rajesh kumari's blog post हैं वफ़ा के निशान समझो ना (प्रेम को समर्पित एक ग़ज़ल "राज')
"जनाब समर कबीर साहब, आदाब, 'रोजे का दरवाजा' क्या होता है मै इससे वाकिफ नहीं हूँ. स्पष्ट कर…"
3 minutes ago
Tasdiq Ahmed Khan commented on Mohammed Arif's blog post लघुकथा--इशारा
"मुहतरम जनाब आरिफ़ साहिब आदाब ,अच्छी लघुकथा हुई है ,मुबारकबाद क़ुबूल फरमाएं"
3 minutes ago
Tasdiq Ahmed Khan commented on MUZAFFAR IQBAL SIDDIQUI's blog post " फर्ज " ( लघु कथा )
"जनाब मुज़फ्फर साहिब ,अच्छी लघुकथा हुई है ,मुबारकबाद क़ुबूल फरमायें"
5 minutes ago
Tasdiq Ahmed Khan commented on Naveen Mani Tripathi's blog post नए चेहरों की कुछ दरकार है क्या
"जनाब नवीन साहिब ,अच्छी ग़ज़ल हुई है ,मुबारकबाद क़ुबूल फरमाएं।"
7 minutes ago
Tasdiq Ahmed Khan commented on rajesh kumari's blog post हैं वफ़ा के निशान समझो ना (प्रेम को समर्पित एक ग़ज़ल "राज')
"मुहतर्मा राजेश कुमारी साहिबा ,अच्छी ग़ज़ल हुई है ,मुबारकबाद क़ुबूल फरमाएं । शेर 4 का उला मिसरे की बह्र…"
12 minutes ago
Sushil Sarna commented on Dr.Prachi Singh's blog post चलो अब अलविदा कह दें......
"न मैं अब राह देखूँगी, न अब मुझको पुकारो तुम न अब उम्मीद होगी ये कि फिर मुझको सँवारो तुममुझे हर बार…"
18 minutes ago
Ajay Kumar Sharma commented on Dr.Prachi Singh's blog post चलो अब अलविदा कह दें......
"सुन्दर रचना.. बधाई हो."
23 minutes ago
Tasdiq Ahmed Khan commented on Dr.Prachi Singh's blog post चलो अब अलविदा कह दें......
"मुहतर्मा प्राची साहिबा ,बहुत ही सुन्दर रचना हुई है ,मुबारकबाद क़ुबूल फरमाएं"
34 minutes ago
Tasdiq Ahmed Khan commented on vijay nikore's blog post दरगाह
"मुहतरम जनाब विजय निकोरे साहिब ,बहुत ही सुन्दर रचना हुई है ,मुबारकबाद क़ुबूल फरमाएं"
37 minutes ago
बृजेश कुमार 'ब्रज' posted a blog post

ग़ज़ल...वही बारिश वही बूँदें वही सावन सुहाना है-बृजेश कुमार 'ब्रज'

१२२२   १२२२ ​   १२२२    १२२२​वही बारिश वही बूँदें वही सावन सुहाना हैतेरी यादों का मौसम है लवों पे…See More
38 minutes ago
Tasdiq Ahmed Khan commented on श्याम किशोर सिंह 'करीब''s blog post पर्यावरण / किशोर करीब
"जनाब श्याम किशोर साहिब ,सुन्दर रचना हुई है ,मुबारकबाद क़ुबूल फरमाएं"
39 minutes ago
Tasdiq Ahmed Khan commented on मंजूषा 'मन''s blog post ग़ज़ल
"मुहतर्मा मंजूषा साहिबा ,सुन्दर ग़ज़ल हुई है ,मुबारकबाद क़ुबूल फरमाएं। शेर 5 के सानी मिसरे में उधर शब्द…"
41 minutes ago

© 2017   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service