For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")


मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi"
  • 39, Male
  • Ballia,U.P & Patna,Bihar
  • India
Share

Er. Ganesh Jee "Bagi"'s Friends

  • MAROOF KHAN
  • Vinit Srivastava
  • krishna mishra 'jaan'gorakhpuri
  • डिम्पल गौर 'अनन्या'
  • pratibha tripathi
  • Ram Ashery
  • maharshi tripathi
  • Hari Prakash Dubey
  • Chhaya Shukla
  • seemahari sharma
  • harivallabh sharma
  • sanjeev sharma
  • Amit Kumar "Amit"
  • Mukesh Verma "Chiragh"
  • अनिल कुमार 'अलीन'
 

Er. Ganesh Jee "Bagi"'s Apps

Er. Ganesh Jee "Bagi" hasn't added any Apps yet.

 
 
 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity


सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर commented on Dr Ashutosh Mishra's blog post तुमको पत्थर में नहीं मूरत दिखाई दे रही
"आदरणीय आशुतोष जी शानदार ग़ज़ल हुई है दिल से दाद हाज़िर है  एक मिसरे पर छोटा सा सुझाव, यदि उचित…"
15 minutes ago
Dr. Vijai Shanker commented on मिथिलेश वामनकर's blog post ग़ज़ल -- बह्र-ए-शिकस्ता में एक प्रयास (मिथिलेश वामनकर)
"यहाँ अपने आप से मैं रहा बेखबर हमेशा मैं मशीन हो गया हूँ मुझे आदमी बना दे ॥ बहुत ही खूबसूरत ग़ज़ल,…"
20 minutes ago
Dr Ashutosh Mishra commented on Dr Ashutosh Mishra's blog post तुमको पत्थर में नहीं मूरत दिखाई दे रही
"आदरणीय गिरिराज भाईसाब ..मेरी हर रचना को आपका स्नेह और मार्गदर्शन मिलता है ये मेरे लिए बेशकीमती है…"
22 minutes ago
Dr Ashutosh Mishra commented on Dr Ashutosh Mishra's blog post तुमको पत्थर में नहीं मूरत दिखाई दे रही
"आदरणीय कृष्णा जी ..रचना आपको पसंद आयी यह मेरे लिए बेहद खुसी की बात है सादर "
23 minutes ago
Dr Ashutosh Mishra commented on Dr Ashutosh Mishra's blog post तुमको पत्थर में नहीं मूरत दिखाई दे रही
"आदरणीय वीनस जी ...रचना पर आपकी प्रतिक्रिया से मेरे उत्साह काफी बढ़ा है ..मैं जो कुछ भी लिख पा रहा…"
24 minutes ago

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर commented on मिथिलेश वामनकर's blog post ग़ज़ल -- बह्र-ए-शिकस्ता में एक प्रयास (मिथिलेश वामनकर)
"कृपया इस शेर को इस तरह पढ़ने का कष्ट करें - अभी लौट के जो देखा मेरा गाँव खो गया है न मिला कोई…"
27 minutes ago
Dr. Vijai Shanker commented on Dr. Vijai Shanker's blog post सौंदर्य प्रतिभा ज्ञान---डॉo विजय शंकर
"आदरणीय गिरिराज भंडारी जी, रचना पर आपकी प्रतिक्रिया एवं प्रशस्ति सराहनीय है, आपका आभार, बधाई के लिए…"
27 minutes ago

सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर commented on मिथिलेश वामनकर's blog post ग़ज़ल -- बह्र-ए-शिकस्ता में एक प्रयास (मिथिलेश वामनकर)
"आदरणीय गिरिराज सर, सराहना के लिए हार्दिक आभार  आपने सही कहा वो मिले नहीं मिला ही…"
28 minutes ago
Dr. Vijai Shanker commented on Dr. Vijai Shanker's blog post देशराज सिंह के बेटे ( लघु- कथा ) --- डॉo विजय शंकर
"प्रिय मिथिलेश जी, रचना पर आपकी उपस्थिति, आपकी प्रतिक्रिया एवं प्रशस्ति सराहनीय है, आभार, बधाई के…"
29 minutes ago
Dr. Vijai Shanker commented on Dr. Vijai Shanker's blog post देशराज सिंह के बेटे ( लघु- कथा ) --- डॉo विजय शंकर
"आदरणीय मनोज जी, रचना पर आपकी उपस्थिति, आपकी प्रतिक्रिया सराहनीय है, आभार, सद्भावनाओं के लिए…"
31 minutes ago

सदस्य कार्यकारिणी
गिरिराज भंडारी commented on Nilesh Shevgaonkar's blog post ग़ज़ल-नूर : आसमां क्या ख़बर नहीं रखता
"मंज़िलें आँखों में बसाई क्यूँ पाँव में जब सफ़र नहीं रखता   -- लाजवाब बात कही , गज़ल भी खूब…"
40 minutes ago

सदस्य कार्यकारिणी
गिरिराज भंडारी commented on Samar kabeer's blog post नसरी नज़्म :- तन्क़ीद निगार
"आदरनीय समर भाई , बहुत सतीक बात कही , तनकीद निगारी तलवार की धार मे चलने जैसा काम है , कुछ छोट गया…"
44 minutes ago

© 2015   Created by Admin.

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service