For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

एक और घोषणा :- "महीने की सर्वश्रेष्ट रचना पुरस्कार"

प्रिय साथियों !


            आने वाले नव वर्ष में हम अपने सदस्यों को एक और तोहफा की घोषणा करने जा रहे है, जैसा की आप जानते है कि ओ बी ओ प्रत्येक माह एक रचना को "महीने की सर्वश्रेष्ट रचना" (Best Creation of the Month) के रूप में सम्मानित करता है, अब जनवरी २०१२ से "महीने की सर्वश्रेष्ट रचना" को भी नगद पुरस्कार दिया जायेगा |


पुरस्कार का नाम :- "महीने की सर्वश्रेष्ट रचना पुरस्कार"
पुरस्कार की राशि :- रु. ५५१/- मात्र
पुरस्कार के प्रायोजक :- गोल्डेन बैंड इंटरटेनमेंट ( G-Band ) 

                                H.O.F-315, Mahipal Pur-Ext. New Delhi.

 

संशोधन :- पुरस्कार राशि का बैंक ड्राफ्ट/चेक केवल भारत में भूगतेय और प्रमाण पत्र भारत के पते पर ही भेजा जायेगा | ०४.०८.१२ 

आपका
गणेश जी "बागी"
संस्थापक सह मुख्य प्रबंधक
ओपन बुक्स ऑनलाइन

Views: 671

Reply to This

Replies to This Discussion

adarniya admin mahodaya g aapka yah dicision manch ko aur bhi samriddha banayegi ......

जनवरी कई मायनों में अहम हो गई :))))))))))))))))))

ओ बी ओ मंच का जिस सुरुचिपूर्ण तरीके से उत्थान हुआ और हो रहा है यह देख कर मन प्रसन्न हो जाता है

इस सराहनीय प्रयास के लिये ओबीओ को मंगलकामनायें.

एक महत्त्वपूर्ण  उपलब्धि हेतु हार्दिक बधाई बागी जी ! और sponsor golden band  के प्रति हार्दिक आभार !! यह प्रयास निश्चित रूप से ओ बी ओ ही नहीं साहित्य के उन्नयन में मील का पत्थर साबित होगा !!

सराहनीय प्रयास के लिये ओबीओ को मंगलकामनायें.

बधाई हो !!!
नगद पुरस्कारों की घोषणा की बाढ़ लगाते जा रहे हैं और मुझे लगाने लगा है की कभी की सुनी हुई बात को भुलाना पड़ेगा, आप भी सुन लें ---
"माना की  मुफ़लिसी  है  न बेचो ज़मीर कॉ, हालात  जब बदलेंगे  ग़ुरबत सताएगी I
 लेकर खड़े हो क़ास-ए-तहज़ीब किसलिए, इसमे किसी से भीक भी डाली न जाएगी I"

kya bat hai.

महीने की सर्वश्रेष्ठ रचना मेँ अपनी रचना किस प्रकार भेजी जा सकती है

आदरणीय हसरत साहब, महीने की सर्वश्रेष्ठ रचना हेतु अलग से रचना भेजने की आवश्यकता नहीं है, ओ बो ओ पर प्रकाशित रचनाओं में से ही चयनकर्ताओं द्वारा स्वतः चयन कर लिया जाता है |

गणेश जी "बागी" जी को मेरा सादर प्रणाम

सर आपका यह यह तोहफा सभी नई युवा पीढी के उबरते सितारों को आगे आने के लिए प्रोत्शाहित करेगा बहुत ही अच्छा प्रयास इसकेलिए मेरा आपको तह दिल से धन्यवाद

फूल सिंह

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Blogs

Latest Activity

रवि भसीन 'शाहिद' commented on रवि भसीन 'शाहिद''s blog post बड़ा दिन हो मुबारक
"आदरणीया Rachna Bhatia साहिबा, नज़्म में आपकी शिरकत और सुख़न-नवाज़ी के लिए तह-ए-दिल से आपका…"
1 minute ago
रवि भसीन 'शाहिद' commented on बृजेश कुमार 'ब्रज''s blog post ग़ज़ल-जैसा जग है वैसा ही हो जाऊँ तो
"आदरणीय बृजेश कुमार 'ब्रज' साहिब, नमस्कार। हिन्दी की ख़ुशबू से महकती इस सुंदर ग़ज़ल…"
38 minutes ago
Rachna Bhatia commented on रवि भसीन 'शाहिद''s blog post बड़ा दिन हो मुबारक
"आदरणीय रवि भसीन'शाहिद' जी बेहतरीन नज़्म लिखी। बधाई स्वीकार करें।"
1 hour ago
सतविन्द्र कुमार राणा replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-118
"कुछ गुम कुछ आगे दिखते थे, उनको याद करें शोणित से इतिहास रचे थे, उनको याद करें। स्वयं पेट को पट्टी…"
3 hours ago
सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप' posted a blog post

आज़ादी के पुनीत पर्व पर वीर रस की कविता

आज पुनः जब मना रहे हम, वर्षगाँठ आज़ादी कीआओ थोड़ी चर्चा करलें, जनगण मन आबादी कीजिन पर कविता गीत लिखूँ…See More
4 hours ago
बृजेश कुमार 'ब्रज' posted a blog post

ग़ज़ल-जैसा जग है वैसा ही हो जाऊँ तो

बह्र-ए-मीर पतझर में भी गीत बसंती गाऊँ तो जैसा जग है वैसा ही हो जाऊँ तोअंदर का अँधियारा क्या छट…See More
4 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-118
"आ. भाई बासुदेव जी, सादर अभिवादन । प्रदत्तविषय पर सुन्दर गीत रचा है । हार्दिक बधाई ।"
6 hours ago
बासुदेव अग्रवाल 'नमन' replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-118
"आ0 लक्ष्मण धामी जी बहुत सुंदर दोहे। बधाई। आजादी का पर्व है, घर घर मंगल गान।उड़े तिरंगा शान से, देश…"
7 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-118
"दोहे कितने बिश्मिल बोस ने, किया शीष का दान तब जा कर वापस मिला, यहाँ देश को मान।१। ** काम पुण्य का…"
8 hours ago
बासुदेव अग्रवाल 'नमन' replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-118
"(शहीदों की शहादत)2122*3+212 (गीतिका छंद आधारित)(पदांत 'मन में राखलो', समांत…"
8 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर''s blog post आँगन वो चौड़ा खेत के छूटे रहट वहीं - लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' (गजल)
"आ. भाई ब्रजेश जी, सादर अभिवादन ।गजल पर उपस्थिति और उत्साहवर्धन के लिए आभार ।"
11 hours ago

मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi" replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव महा उत्सव" अंक-118
"स्वागतम"
16 hours ago

© 2020   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service