For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

Rana Pratap Singh's Comments

Comment Wall (52 comments)

You need to be a member of Open Books Online to add comments!

Join Open Books Online

At 2:58am on April 4, 2015,
सदस्य कार्यकारिणी
मिथिलेश वामनकर
said…

आदरणीय राणा सर, आपको जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें 

At 12:09pm on March 7, 2014, Zid said…

Dear Mr. Rana pratap, 

I had sent two gazals so far. Both of them apparently did not meet your requirements of legitimacy. I would be grateful for your kind guidance in making me learn about the constitutional errors if any. 

Zid 

At 9:03am on April 4, 2013, लक्ष्मण रामानुज लडीवाला said…

जन्म दिन की हार्दिक मंगल कामनाएं श्री राना प्रताप सिंह जी, माँ शारदा की कृपा बनी रहे 

 आपका और हमारा स्नेह बना रहे, यही प्रभु से प्रार्थना है | जन्म दिन की बधाई | 

At 7:41am on April 4, 2013,
सदस्य टीम प्रबंधन
Dr.Prachi Singh
said…

आदरणीय राणा प्रताप सिंह जी आपको जन्मदिवस की बहुत बहुत शुभकामनाएँ 

At 11:07am on April 3, 2013, ram shiromani pathak said…

janmdin ki hardik subhkamana adarneey

At 10:37pm on December 3, 2012,
सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey
said…

राणा भाई, हार्दिक शुभकामनाओं हेतु हार्दिक धन्यवाद.

At 3:02pm on April 8, 2012, PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA said…

dhanyvaad, aadarniya rana pratap ji, mitrta hetu.

At 1:22pm on April 4, 2012, PRADEEP KUMAR SINGH KUSHWAHA said…

adarniya rana pratap singh ji sadar abhivadan ke sath janam din ki hardik shubh kamnayen swikaar karne ki krapa karen.

happy birth day. sir

At 10:08am on December 3, 2011,
सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey
said…

भाई राणाजी .. शुभकामनाओं हेतु हार्दिक धन्यवाद.

परस्पर सहयोग बना रहे. ..

At 3:29pm on April 7, 2011, nemichandpuniyachandan said…
Rajasthan ki shaan Maharana pratap hain,shaan-e-O-B-O priwaar Keshree Rana pratap hain|
At 2:17pm on April 7, 2011, nemichandpuniyachandan said…
This is no matter of kindness,it would rather please me.
At 2:07pm on April 7, 2011, nemichandpuniyachandan said…
aap dawara housala-aphzai ke liye sukariya.
At 8:41pm on April 4, 2011, Rash Bihari Ravi said…
janamdin mubarak ho
At 3:04pm on April 4, 2011, वीनस केसरी said…

baat gift par aa kar atak gai hai 

 

hmmmm...

At 10:55am on April 4, 2011, Sanjay Rajendraprasad Yadav said…
जुग-जुग जियो ऐ ओबिओ के सपूत.........
At 10:54am on April 4, 2011, Sanjay Rajendraprasad Yadav said…
जुग-जुग जियो ऐ ओबिओ के सपूत.........
At 10:54am on April 4, 2011, Sanjay Rajendraprasad Yadav said…
जुग-जुग जियो ऐ ओबिओ के सपूत.........
At 10:53am on April 4, 2011, Sanjay Rajendraprasad Yadav said…
जुग जुग जिया ओबिओ के लाल..........................jug-jug.pptजुग-जुग जियो ऐ ओबिओ के सपूत.........
At 10:50am on April 4, 2011, Sanjay Rajendraprasad Yadav said…
At 10:46am on April 4, 2011, Sanjay Rajendraprasad Yadav said…

जुग जुग जिया ओबिओ के लाल..........................

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

बृजेश कुमार 'ब्रज' posted a blog post

ग़ज़ल-रफ़ूगर

121 22 121 22 121 22 सिलाई मन की उधड़ रही साँवरे रफ़ूगर सुराख़ दिल के तमाम सिल दो अरे रफ़ूगर उदास रू…See More
5 hours ago
Rachna Bhatia commented on Rachna Bhatia's blog post सदा - क्यों नहीं देते
"आदरणीय चेतन प्रकाश जी नमस्कार। हौसला बढ़ाने के लिए हार्दिक धन्यवाद।"
6 hours ago
Rachna Bhatia commented on Rachna Bhatia's blog post सदा - क्यों नहीं देते
"आदरणीय ब्रजेश कुमार ब्रज जी हौसला बढ़ाने के लिए हार्दिक धन्यवाद।"
6 hours ago
Rachna Bhatia commented on Rachna Bhatia's blog post सदा - क्यों नहीं देते
"स आदरणीय समर कबीर सर् सादर नमस्कार। आदरणीय ग़ज़ल पर इस्लाह देने के लिए बेहद शुक्रिय: ।सर् आपके कहे…"
6 hours ago
Usha Awasthi posted a blog post

सौन्दर्य का पर्याय

उषा अवस्थी"नग्नता" सौन्दर्य का पर्याय बनती जा रही हैफिल्म चलने का बड़ा आधारबनती जा रही है"तन मेरा…See More
8 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on Usha Awasthi's blog post वसन्त
"आ. ऊषा जी, सादर अभिवादन। अच्छी रचना हुई है। हार्दिक बधाई।"
11 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on Anita Bhatnagar's blog post ग़ज़ल
"आ. अनीता जी, सादर अभिवादन। गजल का प्रयास अच्छा है पर यह और समय चाहती है। कुछ सुझाव के साथ फिलहाल इस…"
11 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' commented on Sushil Sarna's blog post दोहा मुक्तक .....
"आ. भाई सुशील जी, सादर अभिवादन। सुन्दर मुक्तक हुए हैं। हार्दिक बधाई।"
11 hours ago
लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' posted a blog post

दोहे वसंत के - लक्ष्मण धामी "मुसाफिर"

जिस वसंत की खोज में, बीते अनगिन सालआज स्वयं ही  आ  मिला, आँगन में वाचाल।१।*दुश्मन तजकर दुश्मनी, जब…See More
13 hours ago
PHOOL SINGH posted blog posts
21 hours ago
Balram Dhakar posted a blog post

ग़ज़ल : बलराम धाकड़ (पाँव कब्र में जो लटकाकर बैठे हैं।)

22 22 22 22 22 2 पाँव कब्र में जो लटकाकर बैठे हैं।उनके मन में भी सौ अजगर बैठे हैं। 'ए' की बेटी,…See More
21 hours ago
Sushil Sarna posted a blog post

दोहा मुक्तक .....

दोहा मुक्तक. . . .दर्द   भरी   हैं   लोरियाँ, भूखे    बीते    रैन।दृगजल  से  रहते  भरे, निर्धन  के …See More
21 hours ago

© 2023   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service