For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

Poonam Priya
Share
  • Feature Blog Posts
  • Discussions (3)
  • Events
  • Groups
  • Photos
  • Photo Albums
  • Videos

Poonam Priya's Friends

  • atul kushwah
  • sagar anand
 

Poonam Priya's Page

Profile Information

Gender
Female
City State
Lucknow
Native Place
Muzaffarur, Bihar
Profession
Teacher
About me
I am very sensitive observer and love research on human and society.

Kabhi socha bhi nahi tha ki 

samay aisa bhi aayega..

Jab bhari sabha me

mujhe bulaya jayega.

mook murti ban gayi

par kuchh na kah saki,

maun pasara is tarah

gum ho gayee bakjhaki.

Is tarah se ek awasar

aur maine kho diya..

Apne antarman me

awiswas ka beej yun bo diya..

Ab chetna me gunje

shabd wo aadhe adhure

awasar pa jo chooke,

swapn kaise kare poore.

Comment Wall (1 comment)

You need to be a member of Open Books Online to add comments!

Join Open Books Online

At 11:03am on October 28, 2013,
सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey
said…

आपका इस मंच पर स्वागत है, पूनम प्रियाजी.

शुभेच्छाएँ.

 
 
 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Blogs

Latest Activity


सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey replied to Admin's discussion खुशियाँ और गम, ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार के संग...
"समर्थ, शिल्पसमृद्ध और संवेदनशील रचनाकार आदरणीया प्रतिभा जी को आज की शुभकारी तिथि के लिए अशेष…"
25 seconds ago
Samar kabeer replied to Admin's discussion "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक- 91 in the group चित्र से काव्य तक
"जनाब अखिलेश कृष्ण श्रीवास्तव जी आदाब,प्रदत्त चित्र को सार्थक करते अच्छे हरिगीतिका छंद लिखे आपने,इस…"
5 minutes ago

सदस्य टीम प्रबंधन
Saurabh Pandey replied to Admin's discussion "ओबीओ चित्र से काव्य तक छंदोत्सव" अंक- 91 in the group चित्र से काव्य तक
"इसे काम कोई न भारी लगे कभी खेत में सरहदों पर जगे नई शक्तियों ने उबारा इसे न मंजूर…"
33 minutes ago
राज़ नवादवी left a comment for pratibha pande
"आदरणीया प्रतिभा पांडे साहिबा, जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएँ. ईश्वर आपको सदैव स्वस्थ एवं प्रसन्न…"
58 minutes ago
राज़ नवादवी left a comment for योगराज प्रभाकर
"आदरणीय योगराज प्रभाकर साहब, जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएँ. ईश्वर आपको स्वस्थ एवं ख़ुशहाल रखे.…"
1 hour ago
राज़ नवादवी commented on राज़ नवादवी's blog post राज़ नवादवी: एक अंजान शायर का कलाम- ७०
"आदरणीय तेज वीर सिंह साहब, आदाब. ग़ज़ल में शिरकत और हौसला अफज़ाई का तहेदिल से शुक्रिया. सादर. "
1 hour ago
राज़ नवादवी commented on राज़ नवादवी's blog post राज़ नवादवी: एक अंजान शायर का कलाम- ६९
"आदरणीय तेज वीर सिंह साहब, आदाब. ग़ज़ल में शिरकत और हौसला अफज़ाई का तहेदिल से शुक्रिया. सादर. "
1 hour ago
TEJ VEER SINGH commented on क़मर जौनपुरी's blog post ग़ज़ल-4 (सब परिंदे लड़ रहे हैं...)
"हार्दिक बधाई आदरणीय क़मर जौनपुरी जी। बहुत सुंदर गज़ल। दर्द से व्याकुल मरीज़ों के बने थे चारागरजो…"
1 hour ago
TEJ VEER SINGH commented on दिनेश कुमार's blog post ग़ज़ल -- फ़लक में उड़ने का क़ल्बो-जिगर नहीं रखता / दिनेश कुमार
"हार्दिक बधाई आदरणीय दिनेश कुमार जी। बहुत सुंदर गज़ल।मिला नसीब से जो कुछ भी, वो बहुत है मुझेपराई…"
2 hours ago
TEJ VEER SINGH commented on लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर''s blog post हुस्न तेरी आशिकी से कौन रखता दूरियाँ - लक्ष्मण धामी "मुसाफिर" ( गजल )
"हार्दिक बधाई आदरणीय लक्ष्मण धामी "मुसाफिर"जी। बहुत सुंदर गज़ल। आईना वो बनके  चल …"
2 hours ago
TEJ VEER SINGH commented on क़मर जौनपुरी's blog post गज़ल -5 ( दोपहर की धूप में बादल सरीखे छा गए)
"हार्दिक बधाई आदरणीय क़मर जौनपुरी जी। बहुत सुंदर गज़ल। भीड़ में वो खो गए जो मर मिटे ईमान परछापकर…"
2 hours ago
TEJ VEER SINGH commented on राज़ नवादवी's blog post राज़ नवादवी: एक अंजान शायर का कलाम- ६९
"हार्दिक बधाई आदरणीय राज नवादवी जी। बहुत सुंदर गज़ल। बनते हो तीसमार खाँ, मेरी भी पर ज़रा सुनो इक…"
2 hours ago

© 2018   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service