For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

Rana Pratap Singh's Discussions (2,066)

Discussions Replied To (1793) Replies Latest Activity

सदस्य टीम प्रबंधन

"आदरणीय समर साहब क़ुव्वत सही शब्द है इसलिए मैंने संशोधन कर दिया है| "

Rana Pratap Singh replied Oct 4, 2017 to ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा-अंक 87 में शामिल सभी ग़ज़लों का संकलन (चिन्हित मिसरों के साथ)

11 Oct 4, 2017
Reply by Samar kabeer

सदस्य टीम प्रबंधन

"आदरणीय समर साहब,  दरअसल हिंदी में इस शब्द को १२ में बांधा जाता है और उर्दू में २१ इस…"

Rana Pratap Singh replied Oct 4, 2017 to ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा-अंक 73 में शामिल सभी ग़ज़लों का संकलन (चिन्हित मिसरों के साथ)

19 Oct 4, 2017
Reply by Samar kabeer

सदस्य टीम प्रबंधन

"आदरणीय महेंद्र जी पहले मिसरे में मयकदे की मात्रा को गिराकर बांधा गया है जो जायज़ नहीं…"

Rana Pratap Singh replied Oct 4, 2017 to ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा-अंक 76 में शामिल सभी ग़ज़लों का संकलन (चिन्हित मिसरों के साथ)

5 Oct 6, 2017
Reply by Mahendra Kumar

सदस्य टीम प्रबंधन

"आदरणीय समर साहब आपने सही फरमाया है ..मिसरा लाल रंग में कर दिया है| बहुत बहुत शुक्रिय…"

Rana Pratap Singh replied Oct 4, 2017 to ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा-अंक 87 में शामिल सभी ग़ज़लों का संकलन (चिन्हित मिसरों के साथ)

11 Oct 4, 2017
Reply by Samar kabeer

"काफिया और काफिये के पहले वाला लफ्ज़ पढ़ते समय एक साथ पढ़े जा रहे हैं जो एक दूसरा अश्लील…"

Rana Pratap Singh replied Sep 23, 2017 to "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-87

581 Sep 23, 2017
Reply by Gajendra shrotriya

सदस्य टीम प्रबंधन

"जनाब अफरोज साहब यह मिसरा लफ्ज़ 'शग़ल' को ग़लत वज्न में बंधने के कारण लाल हुआ है|"

Rana Pratap Singh replied Sep 23, 2017 to ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा-अंक 73 में शामिल सभी ग़ज़लों का संकलन (चिन्हित मिसरों के साथ)

19 Oct 4, 2017
Reply by Samar kabeer

"आदरणीय मुनीश जी अच्छे अशआर कहे हैं ..दाद कबूल कीजिये|"

Rana Pratap Singh replied Sep 23, 2017 to "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-87

581 Sep 23, 2017
Reply by Gajendra shrotriya

"आदरणीय गजेन्द्र जी ..क्या शेर कहे हैं ..नगीने जड़ दिए हैं ..मेरे मुताबिक तो हासिले मु…"

Rana Pratap Singh replied Sep 23, 2017 to "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-87

581 Sep 23, 2017
Reply by Gajendra shrotriya

"आदरणीय राजीव कुमार जी अच्छे शेर कहे हैं ..कुछ शेर में ताक़बुले रदीफ़ है और समर साहब ने…"

Rana Pratap Singh replied Sep 23, 2017 to "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-87

581 Sep 23, 2017
Reply by Gajendra shrotriya

"इक तरफ़ दोस्ती और एक तरफ मेरा रक़ीबउफ! कि उठकर मैं तेरी बज़्म से जा भी न सकूँ वाह वाह .…"

Rana Pratap Singh replied Sep 23, 2017 to "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-87

581 Sep 23, 2017
Reply by Gajendra shrotriya

RSS

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

लक्ष्मण धामी 'मुसाफिर' replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-92
"आ. भाई नादिर जी, बेहतरीन गजल से मंच का शुभारम्भ करने के लिए हार्दिक बधाई ।"
5 minutes ago
Ashish shrivastava replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-92
"हर गाम पे वो हमको सताएँ तो क्या करें , फिर भी हमारे दिल को वो भाएँ तो क्या करें । जा कर बसे हमारे…"
15 minutes ago
Ashish shrivastava replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-92
"आदरणीय सार्थक जी , ग़ज़ल के लिये मुबारकबाद । ग़ज़ल पर और काम करना अभी अपेक्षित है ।"
55 minutes ago
Ashish shrivastava replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-92
"आदरणीय राम अवध जी , बढ़िया ग़ज़ल कही । मुबारकबाद क़ुबूल करें ।"
1 hour ago
Ashish shrivastava replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-92
"आदरणीय मुसाफ़िर जी , ग़ज़ल प्रशंसनीय है । तीसरे शे'र का ऊला मिस्रा बात को स्पष्टतः नहीं कह रहा ।"
1 hour ago
Ashish shrivastava replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-92
"वाह , आदरणीय । ग़ज़ल अच्छी कही , लेकिन कहीं कहीं बह्र निभ नहीं पाई है । सादर ।"
1 hour ago
Ashish shrivastava replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-92
"बहुत उम्दा ग़ज़ल ,मुहतरम नादिर साहब । मुबारकबाद !"
1 hour ago
सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप' commented on Tasdiq Ahmed Khan's blog post ग़ज़ल (जो अज़मे तर्के उल्फ़त कर रहा है )
"आद0 तस्दीक अहमद जी सादर अभिवादन। बहुत उम्दा ग़ज़ल कही आपने। इस शैर पर अतिरिक्त तालियां। मरीज़े इश्क़…"
1 hour ago
सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप' commented on Nilesh Shevgaonkar's blog post ग़ज़ल नूर की -खेल सारे, हर तमाशा छोड़ कर
"आद0 नीलेश भाई जी सादर अभिवादन। बहुत बेहतरीन ग़ज़ल कही आपने। हरेक शैर दमदार। मुबारकवाद कुबूल करें। सादर"
1 hour ago
सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप' commented on KALPANA BHATT ('रौनक़')'s blog post अंगुलिमाल(लघुकथा)
"आद0 कल्पना भट्ट जी सादर अभिवादन। लघुकथा का उत्तम प्रयास। शेष आरिफ जी कह चुके हैं। इस प्रस्तुति पर…"
1 hour ago
सुरेन्द्र नाथ सिंह 'कुशक्षत्रप' replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-92
"उनकी अदाएँ हमको सताएं तो क्या करें रुख़ से निक़ाब ख़ुद वो उठाएं तो क्या करें टुकड़ों पे जिनके पलते रहे…"
1 hour ago
Sarthak replied to Admin's discussion "ओ बी ओ लाइव तरही मुशायरा" अंक-92
"वो अहद ही अगर न निभाये तो क्या करें तस्वीर उसकी याद दिलाये तो क्या करें सोचा किया यही की दरिया में…"
4 hours ago

© 2018   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service