For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

Featured Videos

All Videos (366)

  • गीतिकाव्य में मात्रा संयोजन

    गीतिकाव्य में मात्रा संयोजन

    एम.आई.ई.टी.कुमाऊँ व ओबीओ के संयुक्त तत्वाधान में, एम.आई.ई.टी.कुमाऊँ परिसर में दिनाँक 4अप्रैल,२०१५ क… Dr.Prachi Singh Apr 25, 2015 53 views

  • Mann Ka Murm.wmv

    Mann Ka Murm.wmv

    "मन का मर्म" मेरी लिखी यह कविता आप यहाँ मेरी आवाज मेँ सुन सकते हैँ. आप की टिप्पणियोँ की प्रतीक्षा र… Mohinder Kumar Nov 10, 2014 29 views

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity


प्रधान संपादक
योगराज प्रभाकर replied to Saurabh Pandey's discussion दिल्ली के गुलाबी मौसम में सम्मिलन सह काव्य-गोष्ठी
"बड़ा होना कोई बुरी बात नहीं जब तक कि कोई "पेड़ खजूर" न हो जाएI :))))))"
57 minutes ago
आशीष सिंह ठाकुर 'अकेला' commented on Naveen Mani Tripathi's blog post ग़ज़ल - मेरी ग़ज़ल पे निशाना है बात क्या करना
"हर एक शेर शानदार है आ. श्री नवीन मणि त्रिपाठी जी !!! नायाब ग़ज़ल आपने पेश किया…"
57 minutes ago
सतविन्द्र कुमार commented on सतविन्द्र कुमार's blog post शरारत कर वो तेरा मुँह बनाना याद आता है(ग़ज़ल)/सतविन्द्र कुमार राणा
"आदरणीय डॉ विजय शंकर जी प्रोतसाहन के लिए तहे दिल आभार।सादर नमन"
1 hour ago
सतविन्द्र कुमार commented on सतविन्द्र कुमार's blog post शरारत कर वो तेरा मुँह बनाना याद आता है(ग़ज़ल)/सतविन्द्र कुमार राणा
"आदरणीय समर कबीर जी सादर नमन!हौंसलाफ़ज़ाई के लिए सादर आत्मीय आभार।आदरणीय आपने दुरुस्त फ़रमाया।तुम्हारा…"
1 hour ago
सुनील प्रसाद(शाहाबादी) posted a blog post

अब नहीं मेरे गांव में(छंदमुक्त चतुष्पदी कविता)

वो बगिया पनघट शीतल-अब नहीं मेरे गाँव में।बुढ़ा बरगद झूमता पीपल-अब नहीं मेरे गाँव में।परोसा करते थें…See More
1 hour ago

सदस्य कार्यकारिणी
गिरिराज भंडारी posted a blog post

ग़ज़ल -चरागों को जलाने का कोई तो ढब ज़रूरी है ( गिरिराज भंडारी )

1222    1222    1222    1222 मुख़ालिफ इन हवाओं में ठहरना जब ज़रूरी हैचरागों को जलाने का कोई तो ढब…See More
1 hour ago
Azeem Shaikh posted a blog post

मेरे चेहरे पर है जमाने के पहरे कितने

मेरे चेहरे पर है जमाने के पहरे कितनेमै हसुंगा तो उतर जाएंगे चेहरे कितनेमेरी जफाओं का रोना रोते हो…See More
1 hour ago
Manoj kumar Ahsaas posted blog posts
1 hour ago
Manan Kumar singh posted blog posts
1 hour ago
Alka Changa posted a blog post

मत्तगयंद सवैया: अलका चंगा

छाँव बने तन भाव जगे मन चाव सजे चहकी फुलवारी , पावन भाव जगे मन में जब मात बनी यह देह हमारी, ये वरदान…See More
1 hour ago
दिनेश कुमार 'दानिश' posted a blog post

ग़ज़ल -- हरगिज़ न हमको मूकदर्शक पासबानी चाहिए ( दिनेश कुमार 'दानिश' )

2212--2212--2212--2212हरगिज़ न हमको मूकदर्शक पासबानी चाहिएदुश्मन का मुँह जो तोड़ दे अब वो जवानी…See More
1 hour ago
सतविन्द्र कुमार posted a blog post

श्रद्धा और श्राद्ध/सतविन्द्र कुमार राणा

आस्थाओं का ढोल बजा हैश्रद्धा का बाजार सजा हैविश्वासों की लगती बोलीमानवता को मारो गोली।मैं बिकता हूँ…See More
1 hour ago

© 2016   Created by Admin.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service