For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गनेश जी "बागी")

Featured Videos

All Videos (357)

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-"OBO" मुफ्त विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity


सदस्य कार्यकारिणी
गिरिराज भंडारी commented on rajesh kumari's blog post अगर तुम टूटने के दर्द को महसूस कर जाते (ग़ज़ल 'राज'
"आदरणीय राजेश जी , लाजवाब ग़ज़ल कही है , बधाइयाँ | पहेली सी बने फिरते बड़े मदमस्त ये बादल कहीं ख़ाली…"
14 minutes ago

सदस्य कार्यकारिणी
गिरिराज भंडारी commented on Akhand Gahmari's blog post नाम हो जाये
"आदरणीय अखंड भाई , खूब सूरत ग़ज़ल के लिए बधाई |"
20 minutes ago

सदस्य कार्यकारिणी
गिरिराज भंडारी commented on Santlal Karun's blog post मंच-दाँ रहनुमा
"आदरणीय स६त लाल जी , खूब सूरत रचना , आज के समय पर चोट करती हुई , बधाइयाँ प्रेषित हैं |"
22 minutes ago

सदस्य कार्यकारिणी
गिरिराज भंडारी commented on शिव कुमार पटेल's blog post दो मुक्तक
"आ. शिव कुमार जी , उम्दा मुक्तक के लिए बधाई | कभी गावों के चौराहों, कभी शहरों की महफ़िल में मैं…"
25 minutes ago
Laxman Prasad Ladiwala commented on गिरिराज भंडारी's blog post दो क्षणिकाएँ ( गिरिराज भंडारी )
"क्षणिकाओं के माध्यम से अच्छा और सार्थक विचार मंथन हुआ है | बधाई स्वीकारे भाई श्री गिरिराज भंडारी…"
26 minutes ago

सदस्य कार्यकारिणी
गिरिराज भंडारी posted a blog post

( ग़ज़ल ) जलाने को तुम्हारे हौसले तैयार बैठे हैं (गिरिराज भंडारी )

१२२२  १२२२ १२२२ १२२२ज़रा ठहरो छिपे घर में अभी मक्कार बैठे हैंजलाने को तुम्हारे हौसले तैयार बैठे…See More
28 minutes ago

सदस्य कार्यकारिणी
गिरिराज भंडारी commented on shashi purwar's blog post गजल - शशि पुरवार
"लुट रही है राह में हर नार क्यों झुक रहा है शर्म से संसार क्या  गुम हुआ साया भी अपना छोड़कर हो…"
30 minutes ago
Laxman Prasad Ladiwala commented on Laxman Prasad Ladiwala's blog post कुण्डलिया छंद
"कुण्डलिया छंद पसब्द करने के लिए शुक्रिया श्री लक्ष्मण धामी जी एवं श्री जवाहर लाल सिंह जी  आप…"
31 minutes ago

सदस्य टीम प्रबंधन
Dr.Prachi Singh commented on योगराज प्रभाकर's blog post बलिदानी - (लघुकथा)
"आदरणीय प्रधान सम्पादक जी  स्वतंत्र भारत में हुई 65 और 71 की लड़ाई में जिस पिता नें अपनी बेटों…"
1 hour ago

सदस्य टीम प्रबंधन
Dr.Prachi Singh commented on savitamishra's blog post 'संस्कार' कहानी
"सुन्दर लघुकथा प्रयास आ० सविता मिश्रा जी  कथानक अच्छा है..पर शिल्प में पर अभी काफी कमियाँ रह…"
1 hour ago

सदस्य टीम प्रबंधन
Dr.Prachi Singh commented on कल्पना रामानी's blog post हम पाखी जिन बाग वनों के //गज़ल//कल्पना रामानी
"बहुत खूबसूरत भाव आपकी ग़ज़ल के आदरणीया कल्पना जी  हार्दिक बधाई "
1 hour ago
जितेन्द्र 'गीत' posted blog posts
2 hours ago

© 2014   Created by Admin.

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service