For any Query/Feedback/Suggestion related to OBO, please contact:- admin@openbooksonline.com & contact2obo@gmail.com, you may also call on 09872568228(योगराज प्रभाकर)/09431288405(गणेश जी "बागी")

Amit Kumar
Share
  • Feature Blog Posts
  • Discussions
  • Events
  • Groups
  • Photos
  • Photo Albums
  • Videos
 

Amit Kumar's Page

Latest Activity


मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi" left a comment for Amit Kumar
Feb 25, 2012

मुख्य प्रबंधक
Er. Ganesh Jee "Bagi" left a comment for Amit Kumar
" अपने मित्रो और परिचितों को ओपन बुक्स ऑनलाइन से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक करे..."
Apr 26, 2011
Admin left a comment for Amit Kumar
Apr 24, 2011
PREETAM TIWARY(PREET) left a comment for Amit Kumar
Apr 22, 2011
Amit Kumar is now a member of Open Books Online
Apr 22, 2011

Profile Information

Gender
Male
City State
Delhi
Native Place
Bihar
Profession
Service

Comment Wall (4 comments)

You need to be a member of Open Books Online to add comments!

Join Open Books Online

 
 
 

कृपया ध्यान दे...

आवश्यक सूचना:-

1-सभी सदस्यों से अनुरोध है कि कृपया मौलिक व अप्रकाशित रचना ही पोस्ट करें,पूर्व प्रकाशित रचनाओं का अनुमोदन नही किया जायेगा, रचना के अंत में "मौलिक व अप्रकाशित" लिखना अनिवार्य है । अधिक जानकारी हेतु नियम देखे

2-ओपन बुक्स ऑनलाइन परिवार यदि आपको अच्छा लगा तो अपने मित्रो और शुभचिंतको को इस परिवार से जोड़ने हेतु यहाँ क्लिक कर आमंत्रण भेजे |

3-यदि आप अपने ओ बी ओ पर विडियो, फोटो या चैट सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे हो तो आप अपने सिस्टम पर फ्लैश प्लयेर यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करे और फिर रन करा दे |

4-OBO नि:शुल्क विज्ञापन योजना (अधिक जानकारी हेतु क्लिक करे)

5-"सुझाव एवं शिकायत" दर्ज करने हेतु यहाँ क्लिक करे |

6-Download OBO Android App Here

हिन्दी टाइप

New  देवनागरी (हिंदी) टाइप करने हेतु दो साधन...

साधन - 1

साधन - 2

Latest Activity

वीनस केसरी commented on गिरिराज भंडारी's blog post ग़ज़ल - फिल बदीह -- घटी है दरमिय़ाँ दूरी , किसी के दूर जाने से ( गिरिराज भंडारी )
"मुहब्बत कब छिपी है चिलमनों की ओट जाने से नज़र की शर्म कह देगी तुम्हारा सच जमाने से…"
30 minutes ago
वीनस केसरी commented on saalim sheikh's blog post ग़ज़ल : हमारा प्यार आँखों से अयाँ हो जायगा एक दिन
"सुन्दर ग़ज़ल के लिए बधाई स्वीकारें प्राप्त सुझाव पर गौर फरमाएं तो दोष दूर हो जायेगा एक सुझाव यह भी है…"
1 hour ago
वीनस केसरी commented on Pari M Shlok's blog post वफ़ा ढूंढा करोगे लोगों में ( © परी ऍम. 'श्लोक' )
"वाह शानदार ग़ज़ल थी ....सुधार के बाद और शानदार हो गयी है ..."
1 hour ago
वीनस केसरी commented on Rahul Dangi's blog post गजल- दिलबर का दीदार जिन्दगी
"अच्छी ग़ज़ल हुई है बधाई स्वीकारें ध्यान दें कि, विशेष ढंग से पढने पर ही मतला बा-बहर लगता है पहला शेर…"
1 hour ago
वीनस केसरी commented on Dr Ashutosh Mishra's blog post तरही ग़ज़ल
"वाह बहुत खूब"
1 hour ago
वीनस केसरी commented on krishna mishra 'jaan'gorakhpuri's blog post अब जो जायेंगे......."जान" गोरखपुरी
"सुन्दर प्रयास है"
1 hour ago
वीनस केसरी commented on Nilesh Shevgaonkar's blog post ग़ज़ल-नूर- फिर वो मीरा, राबिया दे जाएगा.
"वाह शानदार ग़ज़ल के लिए ढेरो दाद"
1 hour ago
वीनस केसरी commented on शिज्जु "शकूर"'s blog post अभी जीने की हसरत मुझमें बाकी है
"वो बरसेगा कि मुझ पर टूट जायेगा अभी बादल मेरे सर पर उठा ही है अचानक शह्र क्यों जलने लगा कहिये…"
1 hour ago
वीनस केसरी commented on shree suneel's blog post ग़ज़ल :मीआ़दे उल्फ़त देखिये
"बहुत शानदार ग़ज़ल हुई है बधाई स्वीकारें उनसा खिला गमले में इक गुल, अरे!इस मिसरे की मात्रिकता पर पुनः…"
1 hour ago
वीनस केसरी commented on Saurabh Pandey's blog post किन्तु इनका क्या करें ? (नवगीत) // -सौरभ
"अति सुन्दर ...."
1 hour ago
वीनस केसरी commented on गिरिराज भंडारी's blog post गज़ल - फिल बदीह -- सरे सुब्ह लगता है फिर रात होगी ( गिरिराज भंडारी )
"समझ कर ज़रा आप तस्लीम करिये वो देते नहीं हक़ , ये ख़ैरात होगी   वही सुब्ह निकली , वही धूप…"
1 hour ago
वीनस केसरी commented on Pari M Shlok's blog post मैं तकती हूँ राह मगर क्यूँ शाम नहीं आता © परी ऍम. 'श्लोक'
"वाह बहुत खूब"
1 hour ago

© 2015   Created by Admin.

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service